Cover
ब्रेकिंग
दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ EC का कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश, चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल का आरोप

अजय लल्लू की मांग- सरकार धान समेत तिलहनी फसलों की बर्बादी पर किसानों को दे मुआवजा

लखनऊः उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने बेमौसम बरसात से हुई फसलों की बर्बादी पर चिंता व्यक्त करते हुए किसानों की धान सहित तिलहनी फसलों का समुचित मुआवजा देने की सरकार से मांग की है। साथ ही यह भी कहा है कि सरकारी क्रय केंद्रों पर किसानों से भीगा हुआ धान खरीदने के लिए भी सरकार निर्देश जारी करे। मंगलवार को पार्टी द्वारा जारी विज्ञप्ति में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्‍यक्ष अजय कुमार लल्‍लू ने आरोप लगाया कि प्रदेश सरकार किसानों के प्रति कतई संवेदनशील नहीं है।

उन्‍होंने कहा कि यदि सरकार ने समय से सरकारी क्रय केन्द्र खोले होते तो आज किसानों को यह दिन न देखना पड़ता। एक ओर बारिश के कारण खेतों में धान बर्बाद हो रहा है वहीं सरकारी क्रय केंद्रों में व्याप्त भ्रष्टाचार और क्रय केंद्रों की बदहाली के चलते किसानों का धान बेमौसम वर्षा की भेंट चढ़ गया है। उन्‍होंने कहा कि प्रदेश के रायबरेली, अमेठी व सुल्तानपुर आदि जिलों में अभी भी धान की खेतों में कटाई चल रही है। धान की मड़ाई न हो पाने से धान भीगकर खराब हो रहा है वहीं अगेती फसल मटर और सरसों की बुआई की गई। फसल वर्षा के कारण बर्बाद हो गई है। लल्‍लू ने कहा कि पराली को लेकर भी प्रदेश सरकार किसानों के साथ दोहरा मापदंड अपना रही है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News