Cover
ब्रेकिंग
लखनऊ का म्युनिसिपल बॉण्ड BSE में सूचीबद्ध, मुंबई में सीएम योगी आदित्यनाथ ने किया लॉन्च नवंबर में 1.05 लाख करोड़ रुपये का जीएसटी संग्रह, वित्त मंत्रालय ने दी जानकारी अमेरिका के इस सीरियल किलर की कहानी पढ़कर दंग रह जाएंगे आप, FBI के भी हाथ छोटे पड़े 24 घंटे में कोरोना के 36,604 नए मामले, अब तक 88 लाख लोग हुए ठीक किसान आंदोलन के कारण कौन-कौन सी ट्रेन कैंसिल हुई है, जानें उसकी पूरी लिस्ट 4 दिसंबर को दक्षिण तमिलनाडु से टकराएगा चक्रवात बुरेवी, IMD ने जारी किया भारी बारिश का अलर्ट सिंघु बॉर्डर पर किसानों ने लगाए टेंट, बैरिकेड के पास शुरू किया खाना बनाना; दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर भी प्रदर्शन शुरू सर्द हवाओं से लौटी ठंड, तीन दिन बाद बढ़ेगा रात का तापमान, जानिए और क्या कहता है मौसम विभाग यूपी के प्राइवेट अस्पतालों तथा लैब में अब बेहद सस्‍ते में होगा Covid 19 Test, तीन गुना दाम घटाए कोविड-19 पर चर्चा के लिए चार दिसंबर को सर्वदलीय बैठक, तृणमूल कांग्रेस भी होगी शामिल

लॉक डाउन के समय नहीं हो पाया था अस्थियों का विसर्जन, अब की गईं 1 क्विंटल अस्थियां विसर्जित

इंदौर: कोरोना वायरस के चलते मार्च में लगे लॉकडाउन के दौरान रामबाग मुक्तिधाम में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों का सबसे ज्यादा अंतिम संस्कार हुआ है। इसमें मुक्तिधाम विकास समिति के सदस्यों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। समिति सदस्यों ने मृतक के परिजनों के न आने पर संक्रमित शवों का अंतिम संस्कार विधि-विधान से पूरा करवाया। जिसके चलते अंतिम संस्कार के बाद मार्च से लेकर अक्टूबर तक करीब एक क्विंटल से अधिक अस्थियां एकत्रित हो गई थी। विसर्जन के लिए इंतजार कर रही अस्थियों का आज विधि विधान से विसर्जन किया गया।

आपको बता दें कि मार्च के बाद शहर में कोरोना वायरस का प्रकोप फैलना शुरू हो गया था। अप्रैल में कोरोना ने शहर में अपना विकराल रूप दिखाना शुरू कर दिया था। लॉकडाउन के बीच कोरोना संक्रमितों की मृत्यु सिलसिला भी बढ़ता चला गया था। हालात ये हो गए थे कि अधिकांश परिजन अपनों की मौत पर उनका चेहरा देखना तो दूर अंतिम संस्कार के समय मौजूद नहीं रह सके थे। ऐसे में रामबाग मुक्तिधाम विकास समिति ने यह बीड़ा उठाया। समिति सदस्यों ने अपने जीवन की परवाह किए बिना संक्रमित मरीजों का अंतिम संस्कार किया, बल्कि आज उनकी अस्थियों का विसर्जन करके समाज में एक सराहनीय पहल भी की।

फिलहाल एक क्विंटल अस्थियां रामबाग मुक्ति धाम में पड़ी थी। कोरोना संक्रमण से मृत लोगों की अस्थियों को नदियों में विसर्जन के रामबाग मुक्तिधाम एवं दशा पिंड विकास समिति आगे आई। शुक्रवार को रामबाग मुक्तिधाम विकास समिति द्वारा लगभग 1 क्विंटल अतिथियों का नर्मदा में विसर्जन किया गया विसर्जन के पहले मुक्तिधाम में ही सभी अस्थियों का विधि विधान पूर्वक पूजन किया गया। जो कि समिति के कार्यकर्ताओं द्वारा संपन्न हुआ।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News