Cover
ब्रेकिंग
दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ EC का कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश, चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल का आरोप

मध्य प्रदेश में ‘कमल’ की सरकार या कमल नाथ को ताज, जनता आज करेगी फैसला; जानिए चुनाव से जुड़ी हर एक बात

भोपाल। मध्य प्रदेश की सत्ता का भविष्य तय करने वाले 19 जिलों की 28 विधानसभा सीटों के उपचुनाव के लिए मंगलवार को मतदाता तय करेंगे की प्रदेश में ‘कमल’ की सरकार बरकरार रहेगी या कमल नाथ को ताज मिलेगा। कोरोना संकट के कारण मतदान सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक किया जा सकेगा। इस बार एक घंटे का समय बढ़ाया गया है। शाम तक 12 मंत्रियों सहित 355 प्रत्याशियों का भविष्य ईवीएम में कैद हो जाएगा।

40 फीसद मंत्रियों का भविष्य दांव पर

उपचुनाव में शिवराज सरकार के 34 में से 40 फीसद मंत्रियों का भविष्य दांव पर है। दो पूर्व मंत्रियों (गोविंद सिंह राजपूत और तुलसीराम सिलावट) को छह माह में विधायक नहीं बन पाने के संवैधानिक प्रविधान की वजह से इस्तीफा देना पड़ा, वे चुनाव मैदान में हैं। साथ ही 12 गैर विधायक मंत्री भी चुनाव मैदान में हैं। उपचुनाव के नतीजों से इन सभी का राजनीतिक भविष्य तय होगा। दरअसल, इन सभी ने ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ कांग्रेस छोड़ी थी और विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था।

सत्ता का समीकरण साधने के लिए भाजपा ने 14 पूर्व विधायकों को मंत्री बनाया और ये सभी चुनाव लड़ रहे हैं। ये मंत्री हैं इमरती देवी, डॉ. प्रभुराम चौधरी, प्रद्युम्न सिंह तोमर, महेंद्र सिंह सिसौदिया, बिसाहूलाल सिंह, एदल सिंह कंषाना, राजवर्धन सिंह दत्तीगांव, हरदीप सिंह डंग, बृजेंद्र सिंह यादव, गिर्राज डंडौतिया, सुरेश धाकड़, ओपीएस भदौरिया।

भाजपा या कांग्रेस की सत्ता का यह हो सकता है गणित

विधानसभा में कुल सीटें -230

उपचुनाव- 28

विधानसभा क्षेत्र में विधानसभा में मौजूदा दलीय स्थिति

भाजपा- 107 सीट

कांग्रेस- 87

बसपा-2

सपा-1

निर्दलीय- 4

– उपचुनाव के परिणाम आने के बाद बहुमत का निर्धारण 229 सीटों के आधार पर होगा। 115 विधायक जिसके साथ होंगे, उसका बहुमत होगा।

– भाजपा की मौजूदा सदस्य संख्या 107 है और उसे बहुमत के लिए आठ और विधायकों की जरूरत है।

– कांग्रेस की मौजूदा सदस्य संख्या 87 के हिसाब से सभी 28 सीटें जीतने पर ही उसे बहुमत का आंकड़ा हासिल होगा। ये स्थितियां भी संभव

– कांग्रेस यदि 21 सीटें जीत लेती है तो बसपा, सपा और निर्दलीय विधायकों के समर्थन से बहुमत के लिए जरूरी संख्या जुटा सकती है।

– कांग्रेस की 21 से कम सीटें आने पर उसकी सत्ता में वापसी तभी संभव हो पाएगी, जब वह भाजपा विधायकों को अपने पाले में करके उनके इस्तीफे कराए।

– भाजपा को आठ से कम सीटें मिलने पर अन्य दलों के विधायकों के भरोसे रहना होगा। अभी बसपा, सपा और निर्दलीय विधायक शिवराज सरकार का समर्थन कर रहे हैं।

उपचुनाव की फैक्ट फाइल

उपचुनाव वाले कुल विधानसभा क्षेत्र  28

कुल मतदाता                             63,67,751

पुरुष-                                       33,80,498

महिला                                     29,87,050

थर्ड जेंडर                                  203

सर्विस वोटर                              18,815

कुल मतदान केंद्र                         9,361

संवेदनशील मतदान केंद्र                3,038

80 वर्ष से अधिक आयु के मतदाता    71,337

निशक्तजन मतदाता                     64,194

मतदान दल में कर्मचारी                56,000

केंद्रीय अ‌र्द्धसैनिक बल                    84

कंपनी राज्य सशस्त्र बल के जवान   2,500

जवान पुलिस बल                       10,000

विशेष पुलिस बल                        10,000

होमगार्ड                                     6,000

उड़नदस्ते                                   250

पुलिस नाके                                293

लायसेंसी हथियार जमा कराए गए 1,58,361

बांड भराए गए                            77,700

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News