Cover
ब्रेकिंग
दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ EC का कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश, चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल का आरोप

दिल्ली में अब ठंड ने तोड़ा 9 साल का रिकॉर्ड, एक सप्ताह के भीतर 9 डिग्री तक जा सकता है तापमान

नई दिल्ली। इस बार समय पर दिल्ली-एनसीआर में दस्तक देने वाली ठंड रोजाना नए-नए रिकॉर्ड तोड़ रही है। इस कड़ी में 2 नवंबर को भी ठंड ने 9 साल के दौरान न्यूनतम पारे के रिकॉर्ड को तोड़ दिया है। सोमवार को दिल्ली में न्यूनतम पारा सिर्फ 10.8 डिग्री सेल्सियस रहा। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (Indian Meteorological Department) के मुताबिक, 2011 से लेकर 2 नवंबर तक इतना कम तापमान कभी नहीं रहा। सप्ताह के अंत तक न्यूनतम तापमान के एक अंक में जाने के आसार है। इसी के साथ दिन के पारे में भी लगातार गिरावट आ रही है।

रविवार को टूटा था 10 साल का रिकॉर्ड

इससे पहले 29 अक्टूबर को ठंड ने 58 सालों का रिकॉर्ड तोड़ा था तो अब नवंबर की शुरुआत ने 10 सालों का रिकॉर्ड तोड़ दिया। एक नवंबर (रविवार) को 2010 के बाद से एक नवंबर की तारीख की सबसे ठंडी सुबह दर्ज हुई। इस सप्ताह के अंत तक न्यूनतम तापमान में यह गिरावट 10 डिग्री से भी नीचे चले जाने के आसार हैं। मौसम विभाग के मुताबिक रविवार को दिल्ली का अधिकतम तापमान सामान्य स्तर पर 30.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। न्यूनतम तापमान सामान्य से पांच डिग्री कम 11.4 डिग्री सेल्सियस रहा। 2011 से लेकर अभी तक एक नवंबर की तारीख का यह सबसे कम न्यूनतम तापमान है।

वहीं, स्काईमेट वेदर के मुख्य मौसम विज्ञानी महेश पलावत ने बताया इतना कम तापमान जाने और ठंड बढ़ने की मुख्य रूप से दो वजह हैं। पहली यह कि इन दिनों आसमान साफ चल रहा है। इस तरह के मौसम में गर्मी और सर्दी दोनों तेजी से बढ़ते हैं। दूसरी वजह यह कि हवा इस समय शांत यानी गतिहीन है। इससे सुबह धुंध भी बढ़ रही है। सोमवार से तो कुहासा पड़ने की भी संभावना है। उन्होंने बताया कि इस सप्ताह के अंत तक न्यूनतम तापमान एक अंक (सिंगल डिजिट) पर आ जाएगा।

2011 से लेकर 2020 के दौरान एक नवंबर का न्यूनतम तापमान

  • 2011         15 डिग्री सेल्सियस
  • 2012         15 डिग्री सेल्सियस
  • 2013         18 डिग्री सेल्सियस
  • 2014         17डिग्री सेल्सियस
  • 2015         17डिग्री सेल्सियस
  • 2016         14डिग्री सेल्सियस
  • 2017         18 डिग्री सेल्सियस
  • 2018         16डिग्री सेल्सियस
  • 2019         17.1डिग्री सेल्सियस
  • 2020         11.4 डिग्री सेल्सियस (1 नवंबर)
  • 2020         10.8 डिग्री सेल्सियस (2 नवंबर)

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News