Cover
ब्रेकिंग
दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ EC का कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश, चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल का आरोप

आर के सिंह ने कहा- अगर महागठबंधन जीता तो यह बिहार का दुर्भाग्‍य होगा

पटना। बिहार के आरा से भाजपा सांसद राजकुमार सिंह (आरके सिंह) ने दूसरे चरण की वोटिंग से पहले महागठबंधन की राजनीति पर तंज कसा है। उन्‍होंने कहा है कि यह बिहार की राजनीति का दुर्भाग्‍य का होगा अगर महागठबंधन की जीत होती है तब। तेजस्‍वी यादव के लिए कहा कि उनके लक्षण भी लालू प्रसाद जैसे हैं। तेजस्‍वी भी क्रिमिनलों को साथ लेकर चल रहे हैं। इसके बाद पूरे राज्‍य में वह उन्‍हें घूमने छोड़ देंगे। बिहार में दूसरे चरण का मतदान तीन नवंबर को है। दूसरे चरण के लिए कुल 94 सीटों पर वोटिंग होगी। इसके लिए रविवार की शाम पांच बजे तक प्रचार खत्‍म हो जाएगा।

पीएम की सभा में भी तेजस्‍वी रहे निशाने पर

बता दें कि पीएम ने भी आज अपनी छपरा की जनसभा से महागठबंधन की सीएम प्रत्‍याशी तेजस्‍वी यादव पर निशाना साधा है। उन्‍होंने लालू और राबड़ी के जंगलराज की याद दिलाते हुए सीएम नीतीश कुमार के नेतृत्‍व में सुशासन की सरकार को बिहार के विकास के लिए जरूरी बताया। इधर उन्‍होंने दो युवराज कह कर तेजस्‍वी और राहुल गांधी पर राजनीतिक हमला करते हुए कहा कि यह सिर्फ परिवार की राजनीति करना जानते हैं। वहीं भाजपा सिर्फ जनता को समर्पित राजनीति करती है। उन्‍होंने डबल-डबल युवराज की राजनीति पर कहा अब इनके हारने की बारी आ गई है। जो हाल उत्‍तर प्रदेश में डबल युवराज का हुआ, अब यही हाल बिहार में होने जा रहा है। बता दें कि बिहार में पीएम मोदी की रविवार को चार चुनावी रैली थी।

पीएम का लकड़सुंघवा बन गया चर्चा का विषय

पीएम ने आज अपनी चुनावी रैली के मंच से एक ऐसे शब्द को दुहराया है जिसको लेकर एक बार फिर पुरानी बातें जेहन में उतर आई हैं। पीएम ने अपनी बातों में लड़कसुंघवा शब्‍द का इस्‍तेमाल किया। आम तौर पर बिहार और यूपी में आम बोलचाल में पहले के जमाने में बोला जाने वाला शब्‍द था जिससे बच्‍चों को डराया जाता था जिसमें यह कहा जाता था कि बच्‍चों को अगवा करने वाला घूम रहा है। उन्‍हें यह कह कर घर में रहने के लिए कहा जाता था कि लकड़सुंघवा उन्‍हें कुछ सुंघा कर अपहरण कर ले जाएगा। इससे बच्‍चे डर जाते थे और बाहर निकलने से परहेज करते थे। बता दें कि एक समय में बिहार और यूपी में अपहरण का कारोबार बहुत तेजी से उभरा था जिसमें कई बड़े नाम भी सामने आए थे। हालांकि अब इस शब्‍द का इस्‍तेमाल नहीं के बराबर होता है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News