Cover
ब्रेकिंग
Rhea Chakraborty के भाई शौविक चक्रवर्ती को लगभग 3 महीने बाद मिली ज़मानत, ड्रग्स केस में हुई थी गिरफ़्तारी कांग्रेस का आरोप, केंद्र सरकार ने बैठक कर किसानों की आंखों में झोंकी धूल मुंबई: यूपी फिल्म सिटी निर्माण पर बोले सीएम योगी आदित्यनाथ- हम यहां कुछ लेने नहीं, नया बनाने आए कर्नाटक में जनवरी-फरवरी में कोविड-19 की दूसरी लहर की आशंका, लोगों में डर का माहौल दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण पर सख्त NGT, क्रिसमस-नए साल पर पटाखे नहीं चला पाएंगे लोग जाधव के लिए वकील नियुक्ति मामले पर विस्तार से चर्चा की सलाह, अहलूवालिया रखेंगे भारत का पक्ष पीड़िता बोली- ससुर करता था अश्लील हरकतें, 2 महीने की बच्ची पर भी तरस नहीं किया, दे दिया तीन तलाक भगवान को ठंड से बचाने के लिए भक्तों ने ओढ़ाए गर्म वस्त्र भूमाफिया बब्बू और छब्बू पर चला प्रशासन का डंडा, अवैध निर्माण जमींदोज दर्दनाक हादसे का सुखद अंत: 3 लोगों समेत अनियंत्रित बोलेरो गहरी नदी में समाई

सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिदीन का चीफ कमांडर मारा गया, एक आतंकवादी को जिंदा दबोचा

जम्मू। सुरक्षाबलों को आतंकवादियों के खिलाफ रविवार को एक बहुत बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। श्रीनगर के रंगरेथ इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ हुई। इसमें सुरक्षाबलों को हिजबुल मुजाहिदीन के चीफ कमांडर को मारने के अलावा एक आतंकवादी को जिंदा दबोचने में भी सफलता मिली है। सुरक्षाबलों ने आतंकवादियों के छिपे ठिकाने को पूरी तरह से घेर लिया। इस दौरान दोनों ओर से रुक रुककर फायरिंग भी हुई। हालांकि सुरक्षाबलों ने सबसे पहले छिपे आतंकवादियों को आत्मसमर्पण करने का मौका भी दिया लेकिन आतंकवादियों ने इसे अनसुना कर फायरिंग करना शुरू कर दी।

कश्मीर के आइजी के अनुसार, शनिवार देर रात को पुलिस को श्रीनगर के रंगरेथ के इलाके में स्थित एक घर में आतंकवादियों के छिपे होने की सूचना मिली। इसके तुरंत बाद आज रविवार को पुलिस और सुरक्षाबलों ने संयुक्त आपरेशन चलाते हुए आतंकवादियों के छिपे हुए ठिकाने को घेरने का प्रयास किया। इस दौरान आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग करना शुरू कर दी। सुरक्षाबलों ने सबसे पहले छिपे आतंकवादियों को आत्मसमर्पण करने की चेतावनी दी। बार-बार आतंकवादियों को आत्मसमर्पण करने के लिए कहा गया लेकिन आतंकवादियों ने इसे अनसुना कर दिया और सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी। जवाब में पुलिस और सुरक्षाबलों ने संयुक्त अभियान के दौरान आतंकवादियों के खिलाफ भी फायरिंग करना शुरू कर दी है। इस दौरान स्थानीय लोगों ने भी सुरक्षाबलों पर पथराव करना शुरू कर दिया। सुरक्षाबलों की कोशिश रही कि आतंकवादियों से किसी भी कीमत पर आत्मसमर्पण करवाया जा सके। गत महीने भी सुरक्षाबल आतंकवादियों से आत्मसमर्पण करवाने में कामयाब रहे थे। इसमें आतंकवादियों के परिजनों ने भी अहम भूमिका निभाई थी। सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ के दौरान हिजबुल मुजाहिदीन का चीफ कमांडर मारा गया। उसकी पहचान सेफुल्लाह के रूप में हुई है। मुठभेड़ स्थल से काफी मात्रा में हथियार, गोला बारूद और अन्य सामान बरामद हुआ है। इसी बीच प्रदेश के डीजीपी दिलबाग सिंह ने स्पष्ट कर दिया है कि सर्दियों के मौसम में भी ऑपरेशन ऑलआउट जारी रहेगा। अगर आतंकवादी आत्मसमर्पण करना चाहता हैं तो इसका भी उन्हें मौका दिया जाएगा।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News