Cover
ब्रेकिंग
बुलेट ट्रेन के 72 फीसदी ठेके भारतीय कंपनियों को दिए जाएंगे : रेलवे पीएम मोदी ने निवार से हुए नुकसान का लिया जायजा, मृतकों के परिजनों को दो लाख रुपये की आर्थिक मदद का किया एलान Ind vs Aus: हार्दिक पांड्या ने किया साफ, अभी नहीं करेंगे गेंदबाजी, टीम इंडिया तैयार करे ऑलराउंडर अमेरिका ने 26/11 मुंबई हमले के मास्टरमाइंड साजिद मीर पर 50 लाख डॉलर के ईनाम की घोषणा की कश्मीर में असल लोकतंत्र का आगाज: विरोध को दरकिनार कर जनता डीडीसी चुनावों में चुनेगी प्रतिनिधि जम्मू-कश्मीर में आज बदलेगा इतिहास, मतदान के लिए कड़ी सुरक्षा के साथ कोरोना से बचाव के भी पुख्ता बंदोबस्‍त ईरान के शीर्ष परमाणु वैज्ञानिक मोहसिन फखरीजादेह की आतंकवादियों ने की निर्मम हत्या Bihar Politics सुशील मोदी को भाजपा ने बनाया राज्यसभा प्रत्याशी, लोजपा की नजर भी टिकी थी ब्रिटिश पीएम ने दी लॉकडाउन की चेतावनी, कहा- पाबंदियों में ढील दी गई तो महामारी हो जाएगी बेकाबू वैक्सीन की तैयारियों का आज जायजा लेंगे पीएम मोदी, टीका तैयार कर रही तीन कंपनियों के प्लांटों का करेंगे दौरा

भारत की धरती पर पहुंचा दूसरा VVIP विमान, पीएम मोदी ओर राष्ट्रपति कोविंद की सुरक्षा में होगा तैनात

देश के राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिए तैयार किया गया बोइंग 777 (Boeing 777) एयरक्राफ्ट का दूसरा VVIP विमान भारत की धरती पर पहुंच गया है। यह एयरक्राफ्ट अमेरिका से टेक ऑफ कर दिल्ली पहुंच चु​का है। बोइंग 777 का पहला विमान अक्टूबर में ही भारत आया था। ये विमान अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के एयरफोर्स वन की तरह जबरदस्त सुरक्षा से लैस हैं। दरअसल राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ट्रैवल जरूरतों को पूरा करने के लिए तीन विमानों को खरीदा जा रहा है। इसे एयरफोर्स के पायलट उड़ाएंगे और इसका कॉल साइन इंडियन एयरफोर्स वन रखा जा सकता है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इसकी जानकारी देते हुए बताया था कि स्पेशल एक्स्ट्रा सेक्शन फ्लाइट (SESF) संचालन के लिए दो नए विमान खरीदे जाएंगे और इसके लिए वित्त वर्ष 2020-21 के बजट में 810.23 करोड़ रुपये का आवंटन किया जा रहा है।

क्या है नए विमान की खासियत 

  • बोइंग 777-300 ईआर में सुरक्षा का सबसे ज्यादा ध्यान रखा गया है।
  • नए एयरक्राफ्ट में इंटीग्रेटेड डिफेंसिव इलेक्ट्रॉनिक वारफेयर सूट है, जो प्लेन को इलेक्ट्रॉनिक खतरों से बचाता है।
  • इन विमानों में लार्ज एयरक्राफ्ट इंफ्रारेड काउंटरमेजर्स (LAICRM) सेल्फ-प्रोटेक्शन सूट है, जो विमान की तरफ आने वाली मिसाइल को डिटेक्ट करने और उसे जाम करने में मदद करता है।
  • इसमें 12 गार्जियन लेजर ट्रांसमिटर असेंबली, मिसाइल वार्निंग सेंसर और काउंटर-मेजर डिस्पेंसिंग सिस्टम भी है।
  • अमेरिका की डिफेंस सिक्योरिटी को-ऑपरेशन एजेंसी ने भी इसे क्लियरेंस दिया है।

इन विमानों पर होगा साइन 

  • एयर इंडिया ने साल 2006 में अमेरिकी कंपनी बोइंग को 68 विमानों के ऑर्डर दिए थे।
  • दोनों वीआईपी विमान भी इसी ऑर्डर का हिस्सा हैं।
  • ये दोनों विमान सिर्फ VVIP की यात्राओं के लिए ही इस्तेमाल किए जाएंगे।
  • इन विमानों पर एअर इंडिया वन (AI-1 या AIC001) का साइन होगा। यह साइन इस बात का संकेत होता है कि विमान में राष्ट्रपति या प्रधानमंत्री सवार हैं।

इसमें किचन से लेकर ऑपरेशन थिएटर तक

  • इस विमान में एक बार में 100 लोगों का भोजन बनाने और 2000 लोगों के लिए भोजन स्टोर करने की व्यवस्था है।
  • इस विमान में अनिश्चितकाल तक उड़ान भरने के लिए हवा में ही ईंधन भरने की सुविधा मौजूद है।
  • इस विमान में किसी आपात स्थिति के लिए 24 घंटे डॉक्टर उपलब्ध रहते हैं और इसमें आपातकाल के लिए एक ऑपरेशन थिएटर भी है।
  • इसके साथ ही इसमें टेलीफोन, रेडियो सेवा, कम्प्यूटर कनेक्शन, 19 टीवी सेट और सभी ऑफिस उपकरण भी मौजूद हैं।
  • किसी भी आपात स्थिति में साउंड अलर्ट के लिए रडार वार्निंग रिसीवर लगाए जाएंगे।
  • सबसे बड़ी बात ये कि एयरक्राफ्ट किसी भी तरह के मिसाइल हमले को रोकने में सक्षम होगा।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News