Cover
ब्रेकिंग
दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ EC का कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश, चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल का आरोप

भाजपा और कांग्रेस एक-दूसरे पर हमलावर, सिंधिया देंगे कांग्रेस के हर सवाल का जवाब

भोपाल। मध्य प्रदेश की 28 विधानसभा सीटों पर हो रहे उपचुनाव को लेकर सरगर्मियां चरम पर हैं। भाजपा और कांग्रेस के नेता जनसभाओं में एक-दूसरे पर हमलावर हैं। भाजपा की ओर से अब राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया की चुनावी सभाओं को अंतिम रूप दिया जा रहा है। मालवा-निमाड़ से इनकी शुरुआत हो गई है। इन सभाओं के जरिये सिंधिया की ओर से कांग्रेस के आरोपों का सीधा जवाब देने की रणनीति पार्टी की है।

चुनावी सभाओं में अब कांग्रेस के आरोपों पर पुख्ता पलटवार की नीति

गौरतलब है कि प्रदेश में उपचुनाव की स्थितियां बनने का प्रमुख कारण सिंधिया और उनके समर्थक विधायकों का कांग्रेस से नाता तोड़ना रहा है। ऐसे में कांग्रेस इन नेताओं पर पार्टी से गद्दारी जैसे आरोपों को प्रमुखता से उठा रही है। सिंधिया कई अवसरों पर इनका जवाब दे चुके हैं, लेकिन चुनावी बयार के अंतिम दौर की तरफ बढ़ते ही भाजपा की ओर से रणनीतिक बदलाव की तर्ज पर रूपरेखा तैयार की जा रही है। फिलहाल सिंधिया ने मालवा-निमाड़ और सांवेर क्षेत्र में चुनावी सभाओं मेें मोर्चा संभाला है। शीघ्र ही विस्तृत दौरे को अंतिम रूप दिया जा रहा है।

कांग्रेस के आरोपों का सच जनता के सामने लाने की रणनीति

सूत्रों का कहना है कि जैसे-जैसे सिंधिया की चुनावी सभाओं की संख्या बढ़ेगी, वैसे-वैसे कांग्रेस के आरोपों का जवाब सिंधिया देते जाएंगे। इससे पार्टी के अन्य नेताओं को इस पर बात करने से मुक्ति मिलेगी और वे शिवराज सरकार के पिछले कार्यकाल की योजनाओं पर फोकस कर सकेंगे। योजनाओं के बारे में विस्तृत जानकारी मंच से साझा करने पर भाजपा इस चुनाव को मुद्दों पर केंद्रित कर शिवराज बनाम कमल नाथ के कार्यकाल को सामने रखेगी।

सिंधिया के फोन से उड़ी कांग्रेस नेताओं की नींद 

उपचुनाव की बेला में सिंधिया के फोन की घंटी कांग्रेस नेताओं की नींद उड़ा रही है। पिछले एक सप्ताह में गोहद, मेहगांव विधानसभा सीट से जुड़े चार नेता कांग्रेस से भाजपा में जा चुके हैं। सिंधिया ने कांग्रेस छोड़ी तो यह नेता तब उनके साथ नहीं गए थे, लेकिन अब खुद को अलग-थलग मानकर कांग्रेस छोड़ रहे हैं। मेहगांव विधानसभा सीट पर कांग्रेस के टिकट के दावेदार रहे राजेंद्र सिंह गुर्जर के पास सबसे पहले सिंधिया का फोन और मैसेज आया। सिंधिया ने उन्हें परिवार का सदस्य बताते हुए बुलाया। गुर्जर दिल्ली में सिंधिया से मिले और लौटकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मंच से भाजपा का दामन थाम लिया। महिला कांग्रेस की जिलाध्यक्ष रजनी श्रीवास्तव दीक्षित से सिंधिया ने कहा कि मैं तुम्हारे बड़े भाई जैसा हूं, आपकी जरूरत है। इसके बाद टिकट कटने से नाराज दीक्षित ने कांग्रेस को अलविदा कह दिया। इसी तरह कांग्रेस के प्रदेश सचिव रामहरि शर्मा और गोहद विधानसभा क्षेत्र में इंजीनियर सुनील शेजवार कांग्रेस अजा प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष के पद को त्याग कर सिंधिया के बुलावे पर भाजपा में शामिल हो गए।

अब सिंधिया का होगा सघन दौरा

सिंधिया जी लगातार दौरे कर रहे हैं। उनकी कई सभाएं हो चुकी हैं। अब उनका सघन दौरा कार्यक्रम शुरू होगा-डॉ. दीपक विजयवर्गीय, मुख्य प्रवक्ता, प्रदेश भाजपा।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News