मध्य प्रदेश उपचुनाव के लिए कांग्रेस ने जारी किया अपना घोषणा पत्र, कमलनाथ, दिग्विजय सिंह सहित कई नेता रहे मौजूद

भोपाल। कांग्रेस पार्टी ने मध्य प्रदेश में विधान सभा के लिए आगामी उपचुनाव के लिए अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है। इस दौरान पार्टी के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ, दिग्विजय सिंह और पार्टी के बाकी नेता भी मौजूद रहे। घोषणापत्र जारी करते हुए कमलनाथ ने कहा कि विधानसभा चुनाव 2018 के लिए वचनपत्र बनाया गया, जिसमें 974 वचन दिए गए। हालांकि, हमारी सरकार महज 15 महीने ही रही। इस कार्यकाल के दौरान ढाई महीने आचार संहिता और एक महीना सौदेबाजी में ही निकल गया। हमने तब भी अपने वचनों में से 574 वचन पूरे किए।

उन्होंने आगे कहा कि हमें राज्य से कोई माफी नहीं मांगनी है। हमारे काम की गवाह जनता है। सरकार में रहते हुए हमने किसानों का कर्ज माफ किया। इतना ही नहीं हमने उपभोक्ताओं को 100 रुपये में बिजली भी दी।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधते हुए कमलनाथ ने कहा कि 2018 के चुनावों में जनता ने 15 साल बाद घर पर बैठा दिया था। इन्होंने केवल सौदेबाजी के अलावा कुछ नहीं किया। उन्होंने कहा कि इस बार जनता शिवराज जी के चंगुल में नहीं फसेगी। इतना ही नहीं इस बार जनता तमाचा मारेगी।

कमलनाथ ने कहा कि हमने अपने घोषणापत्र में 52 चीजों को शामिल किया है। इसमें गौवर्धन सेवा योजना, किसान कर्ज माफी, बिना ब्याज कर्ज और कोरोना से मरने वालों को पेंशन जैसे मुद्दों को शामिल किया गया है।पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि जनता आने वालों दिनों में इस पर विचार करते हुए मध्यप्रदेश के भविष्य को बेहतर बनाने के लिए मतदान करेगी। उन्होंने आगे कहा कि शिवराज ने पिछले सात महीनों में नारियल फोड़ने, झूठी घोषणाओं और सौदेबाजी के अलावा कुछ नहीं किया है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News