Cover
ब्रेकिंग
दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ EC का कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश, चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल का आरोप

National Security Guard स्थापना दिवस पर बोले PM मोदी- भारत को सुरक्षित रखने में NSG के योगदान पर गर्व

नई दिल्ली। राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (National Security Guard) की स्थापना दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह सहित दिग्गजों ने शुभकामनाएं दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा,’ एनएसजी की स्थापना दिवस पर मैं सभी बलकर्मियों और उनके परिवारों को शुभकामनाएं देता हूं’। साथ ही उन्होंने कहा कि भारत की सुरक्षा प्रणाली मे एनएसजी का महत्वपूर्ण योगदान है और भारत को सुरक्षित रखने में एनएसजी के प्रयासों पर देशावासियों को गर्व है।

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि एनएसजी की अपूर्व क्षमता दुनिया की सबसे प्रतिष्ठित फोर्स में से एक बनाती है। एनएसजी के जवानों ने अपने साहस, वीरता और लगन से भारत की हमेशा रक्षा करने में भूमिका अदा की है।

ब्लेक कमांडो नाम से भी जाना जाता है NSG

बता दें कि नेशनल सिक्योरिटी गार्ड (NSG) को  ब्लेक कमांडो नाम से भी जाना जाता है। आज ही के दिन यानी 15 अक्टूबर 1984 को इस फोर्स का गठन हुआ था। गठन से लेकर अब तक 15 अक्टूबर को NSG राइजिंग डे (NSG Raising Day) के नाम से मनाया जाता है।

NSG के बारे में महत्वपूर्ण बातें

एनएसजी आतंकवादी गतिविधियों और अपहरण विरोधी क्रिया कलापों में इसके जवान केंद्रीय अर्धसैनिक बलों का सहयोग करते हैं। विशेष परिस्थितियों से निपटने के लिए इस बल का उपयोग किया जाता है। एनएसजी की जरुरत 1984 के ऑपरेशन ब्लू स्टार के बाद महसूस हुई  थी।  इस ऑपरेशन के दौरान सरकार ने महसूस किया था कि अगर  उनके पास कोई स्पेशल फोर्स होती तो वह इस मामले का आसानी से समाधान निकाल सकते थे। माना जाता है यह फोर्स अपने किसी ऑपरेशन के दौरान गलती नहीं करती है। इसलिए यह बेहद विशेष है। इसका गठन केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों, भारतीय सेना और राज्य पुलिस बलों के अधिकारियों/कर्मियों की मदद से किया जाता है।

NSG के जवान काले कपड़े पहनते हैं। यही कारण है कि उन्हें ‘ब्लैक कैट’के नाम से भी जाना जाता है। एनएसजी ने कई महत्वपूर्ण ऑपरेशन को आंजाम दिया है। इसमें ब्लैक थंडर, अश्वमेध, वज्र शक्ति, ब्लैक टारनेडो आदि शामिल हैं। यही नहीं 26/11 के मुंबई हमले के दौरान ताज होटल में बंधक बचाव मिशन भी NSG द्वारा ही किया गया था।

अगर हम एनएसजी के कार्यों की बात करते हैं तो इसमें भूमि, समुद्र और वायु पर हवाई और पोत अपहरण को रोकना , बमों को ध्वस्त करना, कहीं ब्लास्ट होने के बाद वहां की गहन जांच करना, आतंकियों द्वारा बंधक बनाये गये लोगों को सुरक्षित छुड़ाना, वीआईपी सुरक्षा आदि शामिल हैं। यही इसके मुख्य कार्य रहते हैं।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News