Cover
ब्रेकिंग
याेगी सरकार ने लव जिहाद कानून काे दी मंजूरी, साधू संतों ने फैसले का किया स्वागत अहमद पटेल के निधन पर बोले दिग्विजय- वे सभी कांग्रेसियों के लिए हर राजनैतिक मर्ज़ की दवा थे विजय सिन्‍हा चुने गए स्‍पीकर ,पक्ष में पड़े 126 वोट, विपक्ष में 114 नगरोटा साजिश के पीछे था पाक का हाथ! आतंकियों के पास से मिले डिवाइस ने खोले कई राज राहुल गांधी ने किए तरुण गोगोई के अंतिम दर्शन, बोले- मैंने अपने गुरु को खो दिया चौहान, कमलनाथ, दिग्विजय, सिंधिया ने पटेल के निधन पर शोक व्यक्त किया अहमद पटेल के निधन पर बोले दिग्विजय- वे सभी कांग्रेसियों के लिए हर राजनैतिक मर्ज़ की दवा थे आज तमिलनाडु के तटों से टकराएगा 'निवार', MP में दिखेगा असर, बदलेंगे मौसम के मिजाज UP के बाद मध्य प्रदेश में जल्द बनेगा लव जेहाद के खिलाफ कानून, गृहमंत्री ने बुलाई अहम बैठक पश्चिम रेलवे की पहली किसान रेल सेवा शुरु, सांसद शंकर लालवानी ने दिखाई हरी झंडी

नीतीश कुमार को दिग्विजय की नसीहत, कहा- महबूबा के बाद अब आप रडार पर हो

भोपाल: जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती की रिहाई का मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम एवं राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने स्वागत किया है। साथ ही साथ बीजेपी पर तंज कसा है और बिहार के सीएम नीतिश कुमार को सावधान किया है। साथ ही सवाल किया है कि 1 साल पहले के हालात और 370 हटाने से अब, क्या आतंकवाद समाप्त हो गया? क्या काश्मीर के हालातों में कोई सुधार हुआ है? साथ ही उन्होंने अपने विचार रखे हैं कि ऐसा बिल्कुल भी नहीं लगता।

दिग्विजय सिंह ने ट्वीट के जरिए महबूबा मुफ्ती की रिहाई का स्वागत किया लिखा कि मेहबूबा जी भी ऐसी शक्सियत है जिसे भाजपा ने समर्थन दे कर J&K का मुख्यमंत्री बनाया था। यह लोग किसी के सगे नहीं हैं “मैं मेरा और अपना” यही इनकी रणनीति है और यही राजनीति है। बस इनका भला होता रहे बाक़ी जाएं जहन्नुम में। नितीश जी होशियार ख़बरदार अब आप Radar पर हैं।

आपको बता दें कि पिछले साल अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी बनाये जाने के बाद जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती को नजरबंद किया गया था। 14 महीने बाद उन्हें मंगलवार को रिहा कर दिया गया। नजरबंद जम्मू कश्मीर सरकार के प्रवक्ता रोहित कंसल ने ट्वीट किया, ‘‘ महबूबा मुफ्ती को रिहा किया जा रहा है।”

उनके विरुद्ध जन सुरक्षा कानून (पीएसए) के तहत लगाए गए आरोपों को इस केंद्रशासित प्रदेश के प्रशासन द्वारा हटा लिए जाने के बाद मंगलवार रात रिहा कर दिया गया। वहीं रिहा होने के बाद महबूबा मुफ्ती ने 1 मिनट 23 सेकेंड का एक ऑडियो मैसेज रिलीज किया। ऑडियो मैसेज में महबूबा ने कहा कि उस काले दिन का काला फैसला आज भी उनके दिमाग में खटकता रहा है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News